आमंत्रितगण

सम्मेलन के प्रति विश्व भर में दिलचस्पी उत्पन्न हुई है। यह रुचि विश्व नेताओं और प्रमुख राजनैतिक दलों के प्रमुखों से प्राप्त उत्तरों में परिलक्षित हुई है।

आमंत्रित किए गए 52 नेताओं / 19 देशों और 12 संगठनों के आमंत्रित प्रतिनिधियों से सम्मेलन में भाग लेने की पुष्टि की सूचना प्राप्त हो चुकी है।

सम्मेलन में भाग लेने वाले विशिष्ट नेतागण में अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई, घाना के जॉन क्युफुअर, नाइजीरिया के जनरल ओबासांजो, पूर्व प्रधानमंत्री, महारानी आशी दोरजी वांग्मो वांग्चुक, राजमाता, भूटान, नेपाल के माधव के. नेपाल शामिल हैं।

भाग लेने वाले विशिष्ट जन में अन्य लोगों के साथ-साथ दक्षिण अफ्रीका के वरिष्ठ स्वतंत्रता सेनानी अहमद कथरादा, नबील शाथ, फिलिस्तीन के मुख्य वार्ताकार, अरब लीग के आमरे मूसा, लुइस आयला, महासचिव सोशलिस्ट इंटरनेशनल, असमा जहाँगीर और सुनील खिलनानी शामिल हैं।

अफ्रीकी राष्ट्रीय कांग्रेस, चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी, बांग्लादेश की अवामी लीग, नेपाली कांग्रेस, और वियतनाम की कम्यूनिस्ट पार्टी और मलेशिया की यू.एम.एन.ओ. के शिष्टमंडलों ने सम्मेलन में भाग लेने की पुष्टि की सूचना भेजी है।

भारत के विख्यात विद्वान और राजनयिक भी सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं।